X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

IPL 2019: रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस की नजरें चौथी बार चैंपियन बनने पर,देखें रिकॉर्ड और टीम

by Saurabh Sharma Mar 16, 2019 • 17:29 PM

तीन बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियस लीग के इतिहास की दूसरी सबसे सफल टीम मानी जाती है। इस टीम की खासियत है कि यह खराब शुरुआत के बाद भी वापसी करने में सक्षम है, ऐसा यह टीम बीते सीजनों में कर चुकी है। एक और बात जो मुंबई टीम को खतरनाक बनाती है वो ये है कि इसने चार बार फाइनल में कदम रखा और तीन बार खिताब अपने नाम किया। 

23 मार्च से आईपीएल के 12वें संस्करण में एक बार फिर यह टीम अपने खिताबी सफर को दोहराने की कोशिश करेगी। इसके तीन खिताबों में एक समान बात यह रही है कि मुंबई ने एक साल के अंतराल पर खिताब जीते हैं। मुंबई ने पहला खिताब 2013, दूसरा खिताब 2015 और तीसरा खिताब 2017 में जीता था। 

टीम ने तीसरा खिताब राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को हराकर जीता था, लेकिन बीते साल वह अपने खिताब की रक्षा नहीं कर पाई थी। जिस पैटर्न में टीम ने तीन खिताब जीते हैं, वह टीम को इस साल भी खिताब अपने नाम करने के लिए प्रेरित कर सकता है।

टीम की ताकत उसके संतुलन में रही है। बल्लेबाजों और गेंदबाजों ने मुंबई के लिए उपयोगी योगदान दिए हैं।

इस साल मुंबई ने अपने अधिकतर खिलाड़ियों को रिटने किया और नीलामी में ज्यादा खर्च नहीं किया। हां, कुछ ऐसी खरीदारी जरूर की जिसने कुछ लोगों को हैरान किया। बीते साल टीम के साथ मेंटॉर के तौर पर काम करने वाले श्रीलंका के लसिथ मलिंगा को टीम ने इस बार दो करोड़ रुपये में गेंदबाज के तौर पर शामिल किया है।

टीम के पास जसप्रीत बुमराह जैसा गेंदबाज है जो खेल के हर प्रारूप में बेहद सफल रहा है। आईपीएल में बुमराह का बोलबाला है, लेकिन इसी साल विश्व कप होना है और बीसीसीआई की वर्कलोड मैनेजमेंट प्रक्रिया के तहत हो सकता है कि बुमराह को कुछ मैचों के लिए आराम दिया जाए। ऐसे में मलिंगा मुंबई के लिए असरदार साबित हो सकते हैं। तेज गेंदबाजी को मजबूत करने के लिए मुंबई ने बाएं हाथ के बरिंदर सिंह सरण को भी टीम में शामिल किया है। 

इनके अलावा मुंबई के पास मिशेल मैक्लेघन, एडम मिल्ने, जेसन बेहरनडोर्फ, रासिख सलाम के भी विकल्प हैं।

एक और हैरान करने वाली खरीदारी मुंबई ने युवराज सिंह को टीम में शामिल कर की। युवराज बीते साल किंग्स इलेवन पंजाब से खेले थे, लेकिन प्रभावशाली प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। घरेलू क्रिकेट में भी युवराज का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। ऐसे में मुंबई का युवराज को लाना रिस्क के तौर पर ही देखा जा सकता है। यह जरूर है कि अगर युवराज चल गए, तो वह क्या कर सकते हैं यह सभी जानते हैं। 

हरफनमौला खिलाड़ियों की बात की जाए तो मुंबई के पास उनकी मजबूत फौज है। युवराज के अलावा हार्दिक और क्रूणाल पांड्या तो टीम में हैं ही, केरन पोलार्ड को भी टीम में बनाए रखा गया है। पंकज जयासवाल को भी टीम ने शामिल किया गया है। 

टीम ने जो इस साल सबसे बड़ी खरीदारी की वो नीलामी से नहीं बल्कि ट्रांसफर विंडो से की। उसने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से विकेटकीपर और धांसू बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक को अपने साथ जोड़ा है। डी कॉक और वेस्टइंडीज के इविन लुइस टीम की सलामी जोड़ी का जिम्मा उठा सकते हैं। यह दोनों नाम टी-20 में कितने खतरनाक हैं, इससे सभी वाकिफ हैं।

रोहित शर्मा राष्ट्रीय टीम के लिए टी-20 में ओपनिंग करते हैं लेकिन आईपीएल में वह अधिकतर तीसरे या चौथे नंबर पर खेलते हैं। उनका यह कदम अभी तक कारगर साबित हुआ है। रोहित, पांड्या बंधुओं और पोलार्ड के रहने से टीम का मध्यक्रम मजबूत लग रहा है। ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव टीम की बल्लेबाजी को गहराई देते हैं।

स्पिन में मुंबई के पास पांच विकल्प हैं। पिछले सीजन में अपनी लेग स्पिन गेंदों से प्रभावित करने वाले मयंक मारकंडे को टीम ने बनाए रखा है तो वहीं ऑफ स्पिनर जयंत यादव को भी टीम में लाया गया है। क्रूणाल के रूप में एक और सफल स्पिनर टीम के पास है। 

बैकअप के तौर पर मुंबई के पास स्पिन में अनूकुल रॉय, राहुल चहर मौजूद हैं। 

मुंबई की टीम हमेशा से मजबूत रही है और इस बार भी वह किसी से कम नहीं है। हां, निरतंरता उसका एक कमजोर पहलू रहा है जिस पर उसे काम करने की जरूरत होगी।

टीम : रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डी कॉक, इविन लुइस, अनमोलप्रीत सिंह, सूर्यकुमार यादव, सिद्देश लाड, ईशान किशन, आदित्य तारे, हार्दिक पांड्या, केरन पोलार्ड, क्रूणाल पांड्या, बेन कटिंग, युवराज सिंह, पंकज जायसवाल, मयंक मारकंडे, राहुल चाहर, अनुकूल रॉय, जयंत यादव, जसप्रीत बुमराह, एडम मिल्ने, मिशेल मैक्लेघन, जेसन बेहरेनडोर्फ, रासिख सलाम, लसिथ मलिंगा, बारिंदर सरण।