"
X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

ENG vs PAK: जेम्स एंडरसन ने रचा इतिहास, इंग्लैंड ने जीती लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज 

By Saurabh Sharma
Aug 26, 2020 • 09:29 AM

इंग्लैंड ने मंगलवार को कोविड-19 के बीच लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाया है। यहां एजेस बाउल मैदान पर पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला गया तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा और इसी के साथ इंग्लैंड ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से अपने नाम की। इंग्लैंड ने पहला मैच अपने नाम किया था, जबकि दूसरा और तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा। इससे पहले उसने अपने घर में ही वेस्टइंडीज को 2-1 से हराया था। इंग्लैंड और विंडीज के बीच खेली गई सीरीज कोविड-19 के बीच क्रिकेट की वापसी थी।

इस मैच में इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी आठ विकेट के नुकसान पर 583 रनों पर घोषित कर दी थी और पाकिस्तान को पहली पारी में 273 रनों पर समेट उसे फॉलोऑन के लिए बुलाया। पाकिस्तान ने मैच के आखिरी दिन मंगलवार का खेल खत्म होने तक चार विकेट खोकर 187 रन बना लिए थे और इसी के साथ मैच ड्रॉ रहा।

Also Read: CPL 2020: एविन लुईस ने तूफानी पारी में जड़े 9 छक्के, सेंट किट्स एंड नेविस पैट्रियट्स को दिलाई पहली जीत

इस मैच में जेम्स एंडरसन ने इतिहास रचा। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले एंडरसन ने दूसरी पारी में दो विकेट लिए। उन्होंने दूसरी पारी में जैसे ही पाकिस्तान के कप्तान अजहर अली को पहली स्लिप में जोए रूट के हाथों कैच कराया वैसे ही वह टेस्ट में 600 विकेट लेने वाले पहले तेज गेंदबाज बन गए।

दूसरी पारी में बाबर आजम 92 गेंदों पर 63 रन बनाकर नाबाद रहे। अपनी इस पारी में आजम ने आठ चौके मारे। उनके साथ फवाद आलम बिना खाता खोले नाबाद लौटे।

पाकिस्तान ने चौथे दिन का अंत अपनी दूसरी पारी के स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 100 रनों के साथ किया था। पांचवें दिन का पहला सत्र बारिश की भेंट चढ़ गया और एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। दूसरे सत्र का भी हाल लगभग यही रहा।

तीसरे सत्र में किसी तरह खेल शुरू हुआ। एंडरसन अपने 600 विकेट से एक कदम दूर थे। उन्होंने अजहर को 109 के कुल स्कोर पर आउट कर इतिहास रचा। अजहर ने 31 रन बनाए।

एंडरसन से पहले कोई भी तेज गेंदबाज 600 का आंकड़ा नहीं छू सका था। मुथैया मुरलीधरन (800), शेन वार्न (708) और अनिल कुंबले (619) ही एंडरसन से पहले 600 का आंकड़ा छू सके थे, लेकिन यह तीनों स्पिनर हैं। एंडरसन इंग्लैंड के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

दूसरे छोर पर खड़े आजम को असद शफीक का साथ मिला। शफीक को हालांकि रूट ने 172 के कुल स्कोर पर आउट कर पाकिस्तान का चौथा विकेट गिरा दिया।

यह मैच सिर्फ एंडरसन के लिए ही याद नहीं रखा जाएगा। इंग्लैंड ने पहली पारी में जो स्कोर किया उसे वहां तक पहुंचाने में नंबर-3 बल्लेबाज जैक क्रॉले का भी योगदान रहा। क्रॉले ने इस मैच में 267 रनों की पारी खेली। यह उनका पहला टेस्ट शतक था जिसे वो दोहरे में बदलने में सफल रहे। इसी के साथ वह पहले टेस्ट शतक के तौर पर सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर आ गए हैं। भारत के करूण नायर ने अपने पहले शतक को तिहरे में बदला था और चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 302 रन बनाए थे। इस पारी के कारण जैक को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

क्रॉले के साथ विकेटकीपर जोस बटलर (152) ने पांचवें विकेट के लिए 359 रनों की साझेदारी निभाई थी और इसी साझेदारी के दम पर इंग्लैंड ने पहली पारी में विशाल स्कोर खड़ा किया। बटलर ने इस पूरी सीरीज में दमदार प्रदर्शन किया और इसलिए वो मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। बटलर के साथ मोहम्मद रिजवान को भी संयुक्त रूप से मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। 
 


क्रिकेट समाचार टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।