X close
X close

MI vs SRH : हैदराबाद के खिलाफ प्लेइंग इलैवन में शामिल हुए रोहित शर्मा, अपने बयान से चयनकर्ताओं को किया शर्मिंदा

By Shubham Sharma
Nov 03, 2020 • 20:55 PM

मौजूदा आईपीएल सीजन में मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा की फिटनेस को लेकर कई कयास लगाए जा रहे थे. अब इस कहानी में एक नया मोड़ तब आ गया, जब रोहित शर्मा मंगलवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में वापसी की. रोहित शर्मा को ऑस्ट्रेलियाई दौरे के लिए किसी भी टीम में शामिल नहीं किया गया था जिसके बाद से भारतीय फैंस ने चयनकर्ताओं पर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए थे.

हैदराबाद के खिलाफ आखिरी लीग मैच में वापसी के साथ ही ये साफ हो गया है कि रोहित शर्मा को लगी चोट इतनी गहरी नहीं थी कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाली किसी भी टीम में शामिल ना किया जाए. पिछले हफ्ते, किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच के दौरान 18 अक्टूबर को लगी हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण चयनकर्ताओं ने ऑस्ट्रेलिया के दौरे के लिए तीन में से किसी भी टीम में उन्हें शामिल नहीं किया था.

Also Read: साउथ अफ्रीका टी-20,वनडे सीरीज के लिए इंग्लैंड टीम की घोषणा, बेन स्टोक्स समेत 3 स्टार खिलाड़ी बाहर

इस दौरे के शुरू होने में अभी एक महीने से ज्यादा का समय बचा है, चयनकर्ताओं के फैसले के बाद कई लोगों का मानना ​​था कि रोहित शर्मा की चोट गंभीर थी. लेकिन टीम की घोषणा के कुछ ही क्षणों के बाद, मुंबई इंडियंस ने अपने ऑफिशियल पेज पर एक विडियो शेयर किया जिसमें उन्हें नेट्स में बल्लेबाजी करते हुए देखा जा सकता है.

टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री और सौरव गांगुली के हालिया बयानों से ये साफ है कि भारत का ये स्टार सलामी बल्लेबाज अभी अपनी फिटनेस को लेकर संघर्ष कर रहा है. हालांकि, मुंबई इंडियंस के कप्तान ने मंगलवार को अपनी टीम के अंतिम लीग मैच में वापसी करते हुए सभी को एक और सरप्राइज दे दिया.

रोहित शर्मा ने हैदराबाद के खिलाफ टॉस के दौरान अपनी फिटनेस के बारे में अपडेट देकर चयनकर्ताओं को काफी शर्मिंदा किया. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टॉस पर बात करते हुए, मुंबई के स्टार ने चयनकर्ताओं के साथ-साथ बीसीसीआई पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि, "मैं फिट और ठीक लग रहा हूं."

रोहित के इस मुकाबले में खेलने के बाद अब सवाल उठने लाजमी हैं कि सेलेक्टर्स ने रोहित को ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर जाने वाली किसी भी टीम में शामिल क्यों नहीं किया. ऐसे में अब बीसीसीआई और चयनकर्ता क्रिकेट फैंस के निशाने पर होंगे और ये देखना दिलचस्प होगा कि बीसीसीआई अब इस मामले में क्या जवाब देता है.