X close
X close

प्लेऑफ के लिए करो या मारो मुकाबले में टकराएगी केकेआर और राजस्थान रॉयल्स, देखें दोनों टीमों का संभावित प्लेइंग XI

By Shubham Shah
Oct 31, 2020 • 19:29 PM

राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स की टीमें रविवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में भिडेंगी। इस मैच में हार से किसी एक टीम का आईपीएल के 13वें सीजन के प्लेऑफ में जाने का सपना टूट सकता है। दोनों टीमें इस समय 13 मैचों में 12 अंक लिए हैं। बेहतर रन रेट के कारण राजस्थान पांचवें स्थान पर है, जबकि कोलकाता छठवें स्थान पर है।

यह दोनों टीमों का लीग चरण का आखिरी मैच है और इसमें जीत उन्हें प्लेऑफ की रेस में बनाए रखेगी, जबकि हार से उनकी उम्मीदें टूट जाएंगी।

Also Read: प्लेऑफ के रस्ते में पंजाब की टक्कर धोनी के धुरंधरों से, देखें दोनों टीमों का संभावित प्लेइंग XI

हालांकि जीत प्लेऑप की गारंटी नहीं देगी। दोनों टीमें कोशिश करेंगी कि वह अच्छे नेट रन रेट के साथ जीत हासिल करें क्योंकि इस मैच को जीतने वाली टीम के 14 अंक हो जाएंगे। वहीं कुछ और टीमों के भी 14 अंक होंगे और ऐसे में बेहतर नेट रन रेट वाली टीम को प्लेऑफ में जगह मिलेगी। इसलिए कोलकाता और राजस्थान दोनों अच्छे अंतर से जीत हासिल करना चाहेंगी।

कोलकाता को पिछले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने हराया था। वहीं राजस्थान ने अपने पिछले मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के विजयी क्रम को तोड़ा था।

राजस्थान ने अपने पिछले दोनों मैच जीते हैं और इसकी एक बड़ी वजह बेन स्टोक्स की फॉर्म रही है। मुंबई इंडियंस के खिलाफ स्टोक्स ने शतक जमाया था और फिर पंजाब के खिलाफ अर्धशतक । इन दोनों पारियों ने राजस्थान की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

राजस्थान के लिए जरूरी होगा कि स्टोक्स अपनी फॉर्म को बनाए रखें और साथ ही साथ राजस्थान का शीर्ष क्रम भी अपनी लय बरकरार रखे। स्टोक्स के साथ पिछले दोनों मैचों में संजू सैमसन का बल्ला भी चला है। शुरूआती मैचों में सफल रहने के बाद संजू शांत हो गए थे लेकिन अब फॉर्म में लौट आए हैं।

स्टोक्स और संजू की जोड़ी खतरनाक साबित होती जा रही है। इन दोनों के बाद राजस्थान के पास स्टीव स्मिथ और जोस बटलर हैं।

वहीं अगर कोलकाता की बल्लेबाजी की बात की जाए तो नीतीश राणा और शुभमन गिल ऊपरी क्रम में अच्छा खेल रहे हैं, लेकिन कोलकाता की समस्या है कि उसका बल्लेबाजी क्रम तय नहीं है। गिल के साथ पहले राहुल त्रिपाठी पारी की शुरूआत करने उतरते थे, लेकिन फिर राणा आने लगे और त्रिपाठी तीसरे स्थान पर चले गए।

पिछले मैच में तीसरे नंबर पर सुनील नरेन को भेजा गया और त्रिपाठी निचले क्रम में आए। कप्तान इयोन मोर्गन और दिनेश कार्तिक का भी स्थान तय नहीं है। स्थिर बल्लेबाजी क्रम न होना इस टीम की समस्या रही है। अब लीग का आखिरी मैच बचा है और कोलकाता इसे जीत प्लेऑफ में जगह बना लेती है तो उसके लिए जरूरी है कि वह अपने बल्लेबाजी क्रम में स्थिरता दे।

गेंदबाजी में तो टीम अच्छा कर रही है। पैट कमिंस, लॉकी फग्र्यूसन, शिवम मावी, कमलेश नागरकोटी और प्रसिद्ध कृष्णा ने तेज गेंदबाजी आक्रमण की धार को पैना ही किया है। स्पिन में वरुण चक्रवर्ती ने अच्छा काम किया है।

राजस्थान की गेंदबाजी कोलकाता की तुलना में कमजोर है। जोफ्रा आर्चर इस टीम के अकेले योद्धा हैं और स्पिन में श्रेयस गोपाल और राहुल तेवतिया कभी-कभी उपयोगी साबित हो जाते हैं।

युवा कार्तिक त्यागी ने जरूर आर्चर का साथ दिया है और प्रभावित भी रहे है, लेकिन अनुभव की कमी उन्हें थोड़ी खली है।

दोनों टीमों का संभावित प्लेइंग इलेवन -

कोलकाता नाइट राइडर्स - शुभमन गिल, नितीश राणा, राहुल त्रिपाठी, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), इयोन मोर्गन (कप्तान), सुनील नरेन, रिंकू सिंह, पैट कमिंस, लॉकी फर्ग्यूसन, कमलेश नागरकोटी, वरुण चक्रवर्ती

राजस्थान रॉयल्स - रॉबिन उथप्पा, बेन स्टोक्स, स्टीवन स्मिथ (कप्तान), संजू सैमसन (विकेटकीपर), जोस बटलर, रियान पराग, राहुल तेवतिया, जोफ्रा आर्चर, श्रेयस गोपाल, वरुण एरोन, कार्तिक त्यागी