X close
X close

'हमारे पास मिट्टी ही नहीं है', टर्निंग पिच बनाने को लेकर छलका मोहम्मद यूसुफ का दर्द

पाकिस्तान में मिल रही फ्लैट पिचों को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। इसी कड़ी में जब पाकिस्तान क्रिकेट टीम के बल्लेबाज़ी कोच मोहम्मद यूसुफ ने भी पिच को लेकर अपना दर्द बयां किया है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav January 05, 2023 • 16:45 PM

पाकिस्तानी टीम पिछले एक साल से घर में क्रिकेट खेल रही है लेकिन पिचों को लेकर वो किसी भी तरह का सुधार करने को तैयार नहीं हैं। ऑस्ट्रेलिया के पाकिस्तान दौरे से हुई शुरुआत अब न्यूज़ीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट तक पहुंच चुकी है लेकिन एक भी टेस्ट में गेंदबाज़ों के लिए मददगार पिच नहीं दिखी जिसके बाद एक से बढ़कर एक क्रिकेट एक्सपर्ट ने पाकिस्तान की फजीहत की।

हालांकि, अब पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच मोहम्मद यूसुफ ने पिचों की हो रही आलोचना पर खुलकर बात की है और अपना दर्द बयां किया है। यूसुफ ने देश में टेस्ट मैचों के लिए इस्तेमाल की जा रही पिचों पर बड़ा खुलासा किया है। सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, यूसुफ ने कहा कि पाकिस्तान के पास भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश की तरह टर्निंग ट्रैक बनाने के लिए मिट्टी ही नहीं है। 

Trending


यूसुफ ने पत्रकारों को जवाब देते हुए कहा, "मैं मुल्तान में विकेट के बारे में बात करने के लिए पिच क्यूरेटर के पास गया था, उन्होंने मुझे बताया कि हमारे पास टर्निंग विकेट बनाने के लिए भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका की तरह मिट्टी ही नहीं है। उन्हें 30 प्रतिशत चिकनी मिट्टी की जरूरत है, जो उनके पास नहीं है। पहले विकेट नीचा रहता था और ऑडबॉल टर्न लेती थी लेकिन आज ऐसा नहीं होता है। ये भविष्यवाणी करने का कोई तरीका नहीं है कि विकेट कैसा व्यवहार करेगा। अगर हम बढ़त ले सकते हैं, तो न्यूजीलैंड दबाव में होगा।" 

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

वहीं, अगर ​​पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच चल रहे दूसरे टेस्ट की बात करें तो फिलहाल ये मैच भी ड्रॉ की ओर बढ़ता ही दिख रहा है। चौथे दिन तीसरे सेशन तक कीवी टीम की कुल बढ़त 230 रनों की हो चुकी है और अभी भी उनके पास 6 विकेट बचे हुए हैं ऐसे में अब कीवी टीम ये निर्धारित करेगी कि उन्हें ये मैच किस दिशा में लेकर जाना है। हालांकि, जिस तरह से ये विकेट खेल रहा है उसे देखकर ये कहना गलत नहीं होगा कि आखिरी दिन भी बल्लेबाज़ों का ही बोलबाला रहेगा।