OMG श्रीलंकाई टीम पर लगा बॉल टेंपरिंग का आरोप, श्रीलंकाई टीम ने फिर मैच खेलने से किया मना
X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

OMG श्रीलंकाई टीम पर लगा बॉल टेंपरिंग का आरोप, श्रीलंकाई टीम ने फिर मैच खेलने से किया मना

by Vishal Bhagat Jun 17, 2018 • 14:22 PM

17 जून। वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन स्टम्पस तक श्रीलंका ने अपनी दूसरी पारी में एक विकेट गंवाकर 34 रन बनाए लिए हैं। डारेन सैमी नेशनल क्रिकेट स्टेडियम में जारी इस मैच में श्रीलंका वेस्टइंडीज की ओर से पहली पारी में बनाए गए 300 रनों स्कोर के तहत 13 रनों से पीछे है। महेला उद्वाते (11) और कासुन रंजीता नाबाद हैं। रंजीता ने खाता नहीं खोला है। 

देखें दुनिया की टॉप 10 सबसे खूबसूरत महिला क्रिकेटर

श्रीलंका ने पहली पारी में कप्तान दिनेश चंडीमल की ओर से खेली गई 119 रनों नाबाद शतकीय पारी के दम पर 253 रन बनाए थे।  आपको बता दें कि मैच के तीसरे दिन मैच में विवाद का रूख ले लिया जब श्रीलंकाई टीम के खिलाड़ी मैदान पर उतरने से मना करने लगे।

हुआ ये था कि मैच के अंपायर अंपायर अलीम डार और इयान गाउल्ड ने गेंद से छेड़छाड़ की आशंका के कारण पहली वाली गेंद को बदल दिया।

लेकिन श्रीलंकाई टीम इस बात से संतुष्ट नहीं दिखी और मैदान पर उतरने से मना कर दिया। जिसके बाद मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ , श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरासिंघे और टीम मैनेजर असांका गुरूसिंघा के बीच बातचीत हुई।

एक समय ऐसा लग रहा था कि मैच अब पूरा नहीं हो पाएगा। श्रीलंकाई टीम गेंद को बदलने को लेकर काफी निराश थे। आपको बता दें कि इसी कशमकश में खेल लगभग 2 घंटे तक रूका रहा।

आपको बता दें कि अंपायर ने बॉल से छेड़खानी के तौर पर श्रीलंकाई टीम पर 5 रन पेनाल्टी भी लगाई थी। जिसके बाद श्रीलंकाई खेमा काफी खफा हो गया था। लगभग दो घंटे तक मैच रूका रहा, अंपायर श्रीलंकाई टीम से लगातार इस बात को लेकर चर्चा कर रही थी। मैच हालांकि बाद में काफी विचार विमर्श करने के बाद मैच शुरू हुआ।

आपको बता दें कि वर्ल्ड क्रिकेट के इतिहास में एक दफा ही ऐसा हुआ है जब बॉल टैंपरिंग के बाद मैच को रद्द करना पड़ा था।  देखें दुनिया की टॉप 10 सबसे खूबसूरत महिला क्रिकेटर

आपको याद हो साल 2006 में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच के दौरान पाकिस्तान की टीम पर बॉल टैंपरिंग करने का आरोप लगा था और 5 रन पेवाल्टी लगाई गई थी।

पाकिस्तान की टीम चाय काल के बाद मैदान पर नहीं उतरी और आखिर में अपंयार ने मैच को रद्द करने का फैसला कर लिया था।