Advertisement

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेरे प्रदर्शन का श्रेय बुमराह को : अर्शदीप

T20 World Cup: भारत की रणनीतिक प्रतिभा और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के अनुकूल ढलने की क्षमता ने टी20 विश्व कप के सुपर-8 मैच में ऑस्ट्रेलिया पर 24 रन की जीत दिलाई, जिसके बाद तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने पूरे टूर्नामेंट में

IANS News
By IANS News June 25, 2024 • 19:22 PM
Saint Lucia : ICC Men's T20 World Cup cricket match between India and Australia
Saint Lucia : ICC Men's T20 World Cup cricket match between India and Australia (Image Source: IANS)
Advertisement
T20 World Cup: भारत की रणनीतिक प्रतिभा और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के अनुकूल ढलने की क्षमता ने टी20 विश्व कप के सुपर-8 मैच में ऑस्ट्रेलिया पर 24 रन की जीत दिलाई, जिसके बाद तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार गेंदबाजी का श्रेय जसप्रीत बुमराह को दिया है।

अर्शदीप ने पहले ओवर में खतरनाक डेविड वॉर्नर को आउट कर भारत के लिए एक शानदार आगाज किया। इसके बाद डेथ ओवरों में उन्होंने बड़े हिटर टिम डेविड और मैथ्यू वेड के महत्वपूर्ण विकेट चटकाए और भारत की जीत की राह आसान की।

अर्शदीप ने पहले ओवर में खतरनाक डेविड वॉर्नर को आउट कर भारत के गेंदबाजी आक्रमण की दिशा तय की। डेथ ओवरों में उन्होंने बड़े हिटर टिम डेविड और मैथ्यू वेड के महत्वपूर्ण विकेट चटकाए, जिससे ऑस्ट्रेलिया की जीत में बाधा उत्पन्न हुई।

Trending


अर्शदीप ने इस मैच में 37 रन देकर तीन विकेट लिए। मैच के बाद उन्होंने कहा, "एक खिलाड़ी और एक टीम के तौर पर हमारा लक्ष्य यही था कि हम परिस्थितियों को समझें। जहां तक हवा की बात है तो हमें पवेलियन के दूसरी जगह स्विंग मिल रही थी, लेकिन दूसरे एंड से हमें हवा के विरुद्ध गेंदबाजी करनी थी।

"उस समय बल्लेबाज हवा की ओर शॉट लगा रहे थे, क्योंकि वहां पर उनको मदद मिल रही थी। तो हमें वहां पर सुरक्षमात्‍क विकल्प देखने थे और यहीं हवा ने मैच में अहम भूमिका निभाई।"

एक समय था जब भारतीय गेंदबाज संघर्ष करते नजर आए लेकिन तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में टीम इंडिया ने मैच में वापसी की।

अर्शदीप ने आगे कहा, "मुझे लगता है कि इसका श्रेय जसप्रीत भाई को जाता है। उन्होंने बल्लेबाजों पर दबाव बनाया था। उन्होंने एक ओवर में तीन या चार रन ही दिए, जिससे वे दबाव में आ गए। इसके बाद बल्लेबाजों ने मुझ पर आक्रमण का प्रयास किया और मैं अपनी ही काबिलियत पर गेंदबाजी करता रहा, जिससे मुझे विकेट मिले। दूसरी ओर उन्होंने देखा कि रन नहीं आ रहे हैं और जरूरी रन रेट आगे बढ़ रहा है तो उन्होंने मुझ पर रिस्क लेने की कोशिश की। तो ऐसे में हमेशा विकेट लेने का मौका रहता है। तो मेरे विकेटों का श्रेय जसप्रीत भाई को जाता है।"

भारत की शानदार गेंदबाजी ने आस्ट्रेलिया को 20 ओवरों में 181/7 के स्कोर पर रोक दिया और सेमीफाइनल में जगह पक्की की।

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement