X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

धोनी का यह चहेता खिलाड़ी भी ऑलराउंडर बन टीम में आना चाहता है, खुद किया ऐसा खुलासा

by Vishal Bhagat Oct 10, 2018 • 16:02 PM

10 अक्टूबर।  चेन्नई, 10 अक्टूबर (आईएएनएस)| राष्ट्रीय टीम में जगह पक्की करने की कोशिश में लगे हरफनमौला खिलाड़ी दीपक चहर ने कहा है कि वह एक ऐसे खिलाड़ी बनना चाहते हैं जो नई गेंद से गेंदबाजी करने के साथ ही बल्ले से भी अच्छा योगदान दे सके। चहर को हाल ही में एशिया कप में हार्दिक पांड्या के स्थान पर टीम में चुना गया था। अपने पदार्पण मैच में हालांकि उनका प्रदर्शन खास नहीं रहा था। 

ये हैं टीम इंडिया के क्रिकेटर्स की खूबसूरत वाइफ्स,देखें PICS

चहर ने यहां विजय हजारे ट्रॉफी के मैच के इतर आईएएनएस से कहा, "मैं बल्लेबाजी भी कर सकता हूं। मैं एशिया कप में हार्दिक पांड्या के विकल्प के तौर पर चुना गया था।"

उन्होंने कहा, "मैं अपने आप को एक बल्लेबाज के तौर पर साबित करना चाहता हूं। मैं एक ऐसा हरफनमौला खिलाड़ी बनना चाहता हूं जो नई गेंद से गेंदबाजी कर सके। मैं अपने आप को इस तरह से तैयार करना चाहता हूं कि अगर चयनकर्ता नई गेंद फेंकने वाला गेंदबाज चाहें तो मुझे चुनें वहीं अगर वह हरफनमौला खिलाड़ी चाहें तो मेरा नाम उनके जहन में आए।"

राजस्थान इस वनडे टूर्नामेंट के इलीट ग्रुप-सी में है।  चहर ने कहा कि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले संस्करण में बल्लेबाजी के मौकों का पूरा उपयोग करना चाहेंगे। 

ये हैं टीम इंडिया के क्रिकेटर्स की खूबसूरत वाइफ्स,देखें PICS

उन्होंने कहा, "मैंनै आईपीएल के एक मैच में अच्छे रन किए थे। महेंद्र सिंह धोनी ने मुझे ऊपर भेजा था। इस साल उम्मीद है कि मुझे बल्ले से ज्यादा योगदान देने का मौका मिलेगा। जब एक तेज गेंदबाज बल्लेबाजी कर सकता है तो टीम को संतुलन मिलता है।"

राजस्थान के इस हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, "यह भारतीय टीम शानदार है। आपसे हमेशा उम्मीद की जाती है कि आप ड्रेसिंग रूम में एक नंबर-1 टीम के खिलाड़ी के जैसा व्यवहार करें।"

चहर ने अपने पहले वनडे मैच में चार ओवरों में 37 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। 

चहर को उम्मीद है कि वह वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली जाने वाली घरेलू वनडे सीरीज में भारतीय टीम में जगह बना सकेंगे।  ये हैं टीम इंडिया के क्रिकेटर्स की खूबसूरत वाइफ्स,देखें PICS

उन्होंने कहा, "शुरुआत बेशक अच्छी नहीं रही, लेकिन मुझे दूसरा मौका मिलने की उम्मीद है। मैं काफी मेहनत कर रहा हूं। आईपीएल से मुझे काफी मदद मिली है। जब आईपीएल नहीं था तब पदार्पण करने वाले खिलाड़ी भीड़ के सामने दबाव महसूस करते थे, लेकिन आईपीएल के आने से बाद से आपके पास पहले ही वो अनुभव होता है जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चाहिए।"