X close
X close
Indibet

Breaking : बीसीसीआई की वार्षिक आम बैठक हुई खत्म, आईपीएल समेत कई मुद्दों लेकर लिए गए बड़े फैसले

Shubham Sharma
By Shubham Sharma
December 24, 2020 • 18:26 PM View: 338

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की 89वीं सालाना बैठक अहमदाबाद में हुई। इस मीटिंग के शुरू होने से पहले एक बड़ा फैसला लिया गया जिसमें बीसीसीआई के जनरल मैनेजर वी पी राव को अपना पद छोड़ना पड़ा। बैठक शुरू होते ही कई मुद्दों के ऊपर चर्चा की गई।

पिछले काफी समय से ये कयास लगाए जा रहे थे कि आईपीएल 2021 में हमें 10 टीमें खेलती हुई नजर आ सकती हैं, लेकिन बीसीसीआई की सालाना आम बैठक में ये फैसला लिया गया है कि 2 नई टीमों को 2022 में होने वाले आईपीएल से शामिल किया जाएगा।

Trending


आईपीएल 2022 में दो नई टीमों को शामिल करने की खबर से क्रिकेट फैंस बेहद खुश होंगे, लेकिन अब ये देखना दिलचस्प होगा कि आईपीएल 2022 में शामिल 2 नई टीमें कौन सी होंगी और इनके मालिक कौन होंगे। अगर खबरों की मानें तो इस रेस में अडानी ग्रुप और संजीव गोयनका फिलहाल आगे चल रहे हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि आईपीएल में एक टीम अहमदाबाद की हो सकती है।

जबकि आईपीएल 2021 8 टीमों के साथ ही खेला जाएगा। इसके अलावा बीसीसीआई की सालाना आम बैठक बैठक में क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किए जाने को लेकर भी चर्चा हुई और अगर सब कुछ सही रहा तो हमें 2028  ओलंपिक में क्रिकेट भी देखने को मिलेगा। इसके साथ ही 2021 में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप और घरेलू क्रिकेट के मुद्दों को लेकर भी चर्चा की गई। मीटिंग में लिए गए अहम फैसलों को लेकर कुछ अपडेट्स इस प्रकार हैं।

रिटायरमेंट उम्र में किया गया बदलाव: बीसीसीआई एफिलिएटेड स्कोरर और अंपायर के रिटायर होने की उम्र अब 55 साल के बजाय 60 साल हो गई है। सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि, 'हम मानते हैं कि अंपायर और स्कोरर दोनों ही 60 साल की उम्र तक अपना काम जारी रखने के लिए किसी भी अन्य पेशे की तरह शारीरिक रूप से पर्याप्त स्वस्थ होते हैं।'

राजीव शुक्ला को मिला पद: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला को बोर्ड का उपाध्यक्ष चुना गया है। वो माहिम वर्मा का स्थान लेंगे। वहीं सौरव गांगुली आईसीसी बोर्ड के डायरेक्टर बने रहेंगे। पूर्व राज्यसभा सांसद शुक्ला इससे पहले एन श्रीनिवासन के अध्यक्ष रहते हुए उपाध्यक्ष पद पर थे।

BCCI को नुकसान होने की संभावना: खबरों की मानें तो टैक्स छूट न मिलने पर BCCI को ICC के राजस्व में 123 मिलियन अमरीकी डालर का नुकसान होने की संभावना जताई जा रही है। BCCI ने फैसला किया है कि अगर भारत को अगले साल होने वाले वर्ल्ड T20 की मेजबानी के लिए भारत सरकार से टैक्स में छूट नहीं मिलती है तो उसे नुकसान हो सकता है।

IPL के दौरान होगा जूनियर और महिला क्रिकेट: BCCI ने फैसला किया है कि महिलाओं के टूर्नामेंट (सीनियर और जूनियर) के साथ-साथ आयु वर्ग के टूर्नामेंट (U-23, U-19, U-16) आईपीएल -14 के समय एक साथ आयोजित किए जाएंगे। उम्मीद की जा रही है कि कोविड महामारी के बावजूद अगर सबकुछ ठीक रहता है तो फिर यह टूर्नामेंट भारत में आयोजित किया जा सकता है।

महिलाओं के टेस्ट मैच: इस मीटिंग के दौरान भारत में ही महिलाओं के टेस्ट मैच होने पर विचार-विमर्श किया गया है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो फिर अगले साल महिलाओं की दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला हो सकती है, लेकिन इस संबंध में अंतिम कॉल बीसीसीआई एपेक्स काउंसिल द्वारा की जाएगी।


 
Article